संविदा नियुक्त अधिकारी पर करोड़ों रुपए के घोटाले का आरोप – जेसीसी

रायपुर

जेसीसी- जे के प्रवक्ता नितिन भंसाली ने भी भाजपा शासनकाल में हुए घोटाले की शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से करते हुए कार्यवाही की मांग की. उन्होंने आरोप लगाया कि आबकारी विभाग में संविदा पर वर्षों से कार्यरत अधिकारी समुन्द्र सिंह की ठेकेदारों, अधिकारियों और बीजेपी मंत्रियों की मिलीभगत थी. इससे वह बीजेपी शासनकाल में विगत 5 वर्षों में शराब ठेका ओर बिक्री के नाम पर लगभग 5000 करोड़ के घोटाले किये गए. जेसीसी-जे प्रवक्ता ने मुख्य 119 पेज के दस्तवेजों के साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और शासन के वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत करते हुए घोटालो की जांच एसआईटी या ईओडब्ल्यू से कराने की मांग की है.

नितिन भंसाली ने बताया कि बीजेपी शासनकाल में वर्ष 2012 से 2017 तक आबकारी विभाग ने शराब ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए कमीशनखोरी के नाम से गैर कानूनी तरीके से सारे नियमों को ताक में रखते हुए शराब बिक्री पर 50 से 60 प्रतिशत का प्रॉफिट मार्जिन यानी लाभ दिया जो कि अन्य राज्यों की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा है, जिसकी राशि करोड़ों में हैं. नितिन ने बताया कि बीजेपी शासनकाल में शराब के मूल्य निर्धारण का कोई मापदंड नहीं था, जिसकी वजह से मूल्य निर्धारण का कार्य आबकारी विभाग द्वारा मनमाने तरीके से करते हुए शराब ठेकेदारों को करोड़ों रूपये का लाभ पहुंचाया गया है.

नितिन भंसाली ने बताया कि आबकारी विभाग के भ्र्ष्ट अधिकारियों ने शासन प्रशासन से मिलीभगत कर लोकल ब्रांड की शराब को बिना मापदंडों के परीक्षण के मनमाने तरीके से IMFL (Indian made foreign liquor) की श्रेणी में रखते हुए इन लोकल ब्रांड की शराबों का बिक्री मूल्य निर्धारण महंगी दरों पर करते हुए इससे शराब ठेकेदारों को करोड़ों रुपए का लाभ पहुंचाते हुए कमीशनखोरी कर इस घोटाले को अंजाम दिया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *