कोरबाछत्तीसगढ़

कोरबा : महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रहा है बिहान अभियान- सांसद महतो

कोरबा  : केंद्र सरकार द्वारा संचालित ग्राम स्वराज अभियान के तहत आज कोरबा जिले के पाली विकासखंड के ग्राम रेंकी में राष्ट्रीय आजीविका दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कोरबा लोकसभा क्षेत्र के सांसद डा. बंशीलाल महतो ने उपस्थित जन समुदाय को संबोधित करते हुए

कहा कि केंद्र सरकार के राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत बिहान कार्यक्रम गांव-गांव में महिलाओं को स्वरोजगार से जोडऩे सफल साबित हुआ है। इस अभियान से जुडक़र महिलाएं अब कई प्रकार के रोजगार देने वाले काम और व्यवसाय कर आत्मनिर्भर बन गई हैं।

बिहान कार्यक्रम गांव-गांव में महिलाओं को स्वरोजगार से जोडऩे सफल साबित हुआ है

उन्होंने कहा कि इस अभियान से जुड़ी महिलाओं और स्वसहायता समूहों की सदस्यों में अलग ही आत्म विश्वास देखने को मिल रहा है। डाक्टर महतो ने महिलाओं के सशक्तिकरण और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की इस योजना की संचालन के लिए देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह को बधाई तथा शुभकामनाएं दी।

कार्यक्रम में संसदीय सचिव श्री लखनलाल देवांगन, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती मीरा कंवर, पूर्व विधायक श्री बोधराम कंवर, कलेक्टर मो.कैसर अब्दुल हक, वनमंडलाधिकारी कटघोरा एस. जगदीशन, जिला पंचायत के सीईओ इंद्रजीत सिंह चंद्रवाल सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। कार्यक्रम में केंद्र सरकार के पर्यवेक्षक डा. अमित तिवारी भी शामिल हुए।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह को बधाई तथा शुभकामनाएं दी

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डा. महतो ने कहा कि अब महिलाओं की भागीदारी सामाजिक कार्यों के साथ-साथ स्थानीय शासन-प्रशासन चलाने में बढ़ी है। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित लगभग एक हजार महिलाओं का उदाहरण देते हुए कहा कि आजीविका मिशन से जुड़े इस कार्यक्रम में इतनी अधिक संख्या में महिलाओं की उपस्थिति इस बात का प्रमाण है। महिलाएं आगे बढऩे के लिए जागरूक हो रहीं हैं

और अब घर के साथ-साथ व्यापार व्यवसाय के काम में भी सक्रिय हो गई हैं। डा. महतो ने कहा मुर्रा-लड्डू, साग-भाजी से लेकर सिलाई-कढ़ाई, श्रृंगार सामग्री, होटल जैसे व्यवसाय महिला स्वसहायता समूहों ने सफलता से संचालित किए हैं जो दूसरी महिलाओं के लिए भी प्रेरणादायी हैं। डा. बंशीलाल महतो ने उपस्थित बैंक अधिकारियों को सभी व्यवसाय संचालित करने की इच्छुक महिलाओं को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत जल्द से जल्द ऋण स्वीकृत करने को कहा।

होटल जैसे व्यवसाय महिला स्वसहायता समूहों ने सफलता से संचालित किए हैं

राष्ट्रीय आजीविका दिवस के कार्यक्रम में उपस्थित छत्तीसगढ़ शासन के संसदीय सचिव श्री लखनलाल देवांगन ने कोरबा जिले के स्वसहायता समूहों द्वारा किये जा रहे व्यवसाय और बनाये गये उत्पादों की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर लगे स्वसहायता समूहों के स्टालों में समूहों द्वारा निर्मित  पाट, पैरदान, सूपा-टूकनी, रेडिमेड कपड़े, मुर्रा-लड्डू आदि को देखकर कहा कि समूहों ने स्थानीय स्तर पर लोकप्रिय सामानों के व्यवसाय से लोगों को भी रोजगार के अवसर दिए हैं।

बांस कला की प्रशंसा करते हुए श्री देवांगन ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब कोरबा जिले के स्वसहायता समूहों द्वारा उत्पादित कलात्मक समान और स्थानीय व्यंजन रायपुर, दिल्ली जैसे शहरों की बड़ी दुकानों और एम्पोरियमों में बिंकेगी। बिहान जिला कलेक्टर मो.कैसर अब्दुल हक ने कहा कि बिहान अभियान से जुडक़र स्वसहायता समूहों और उनकी सदस्य महिलाओं ने समान बनाने से लेकर उसके रख-रखाव, बिक्री और लागत-फायदे के प्रबंधन के गुर सीख लिए हैं।

दिल्ली जैसे शहरों की बड़ी दुकानों और एम्पोरियमों में बिंकेगी

स्थानीय स्तर पर समानों को बनाने से लेकर उनकी बिक्री करने तक के सभी काम अब महिलाएं खुद ही कर रहीं हैं। बिहान कार्यक्रम ने महिलाओं को कई रोजगारमूलक गतिविधियों से जोड़ा है। उन्होंने कहा बैंकों से ऋण लेकर व्यवसाय शुरू करना और उसका प्रबंधन कर समूह की सभी सदस्यों की सहायता करना, रियायती दरों पर घर काम के लिए भी छोटे-छोटे ऋ ण देना जैसे काम महिलाएं बिहान कार्यक्रम से ही सीखीं हैं,

इस लिहाज से बिहान कार्यक्रम एक छोटा   सिस्टम बन गया है। कलेक्टर ने कहा कि बिहान से जुड़ी महिलाओं का आत्मविश्वास और उनकी ललक देखकर जिले का कलेक्टर होने के नाते गर्व महसूस होता है। मो. हक ने कहा आजीविका मिशन के उद्देश्यों को पाने में शासन-प्रशासन कई मामलों में सफल रहा है। कलेक्टर ने बताया कि जिले में अब तक तीन हजार से ज्यादा महिला स्वसहायता समूंहों का गठन कर उनसे जुड़ी लगभग 35 हजार महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button