लखनऊ : लखनऊ में स्वाइन फ्लू ने दी दस्तक

 लखनऊ : राजधानी में स्वाइन फ्लू के छह नए मरीज सामने आने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। एसीएमओ ने राजधानी के सभी सरकारी अस्पतालों के इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर को पत्र भेजकर बुधवार को ट्रेनिंग के लिए बुलाया है। वहीं, अधिकारियों के मुताबिक, स्वाइन फ्लू का एक मरीज केजीएमयू और दो मरीज पीजीआई में भर्ती हैं, जबकि बाकी का इलाज उनके घर पर चल रहा है।

ये खबर भी पढ़ें – लखनऊ : शताब्दी-राजधानी ट्रेनों में कैटरिंग शुल्क टिकट क्लास पर आधारित : आरटीआई

एसीएमओ डॉ. केपी त्रिपाठी ने बताया कि केजीएमयू और पीजीआई के रिपोर्ट के आधार पर गोमतीनगर, मोहिबोल्लापुर स्थित कृष्ण लोक कॉलोनी, सरस्वतीपुरम, एलडीए कॉलोनी, जुगौली और चिनहट में रहने वाले 6 लोगों को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। गोमतीनगर निवासी युवक का इलाज केजीएमयू और जुगौली व चिनहट की रहने वाली दो महिलाओं का इलाज पीजीआई में चल रहा है। अधिकारियों के मुताबिक राजधानी में अब तक स्वाइन फ्लू के 38 मरीज मिल चुके हैं।

फीवर ट्रैकिंग शुरू

स्वाइन फ्लू के मामले बढऩे के बाद स्वास्थ्य कर्मियों को मरीजों के आसपास के इलाकों में फीवर ट्रैकिंग शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। डॉ. केपी त्रिपाठी ने बताया कि फीवर ट्रैकिंग के तहत स्वास्थ्यकर्मी मरीज के आसपास के करीब 100 घरों में जाकर लोगों की जांच करेंगे और उन्हें दवाएं देंगे।

कर्मचारियों का होगा वैक्सिनेशन

एसीएमओ डॉ. केपी त्रिपाठी ने बताया कि अस्पतालों को सभी कर्मचारियों के स्वाइन फ्लू वैक्सिनेशन के भी निर्देश दिए गए हैं। अस्पताल यह वैक्सीन निदेशक संचारी रोग से हासिल कर सकते हैं। इसके साथ अस्पतालों में टेमी फ्लू और एन-95 मॉस्क भी पर्याप्त मात्रा में मुहैया करवाए गए हैं।

10 बेड के वॉर्ड बनाने का निर्देश

सीएमओ ने सभी अस्पतालों में आइसोलेशन वॉर्ड बनाने के भी निर्देश दिए हैं। अधिकारियों के मुताबिक, सीएचसी में चार बेड और संयुक्त अस्पतालों में 10 बेड का आइसोलेशन वॉर्ड बनाया जाएगा।
ऐसे करें बचाव
डॉक्टर की सलाह के बिना दवा न लें।
ट्रिपल लेयर मास्क का प्रयोग करें।
हाथ मिलाने और गले गलने से बचें।
मॉस्क का डिस्पोजल सावधानी से करें।
बार-बार साबुन से हाथ धोते रहें।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *