छत्तीसगढ़बड़ी खबरेंरायपुर

 रायपुर : कांग्रेस ने की लोकसभा चुनाव में हार की समीक्षा

रायपुर : लोकसभा चुनाव में हार के बाद रविवार को प्रदेश कांग्रेस ने बैठक आयोजित कर हार की समीक्षा की। समीक्षा में कार्यकत्ताओं की उपेक्षा एवं शहरी इलाकों में प्रचार की कमी की बात कही गई। बैठक में कार्यकर्ताओं की समस्याओं के निराकरण के लिए सरकार के मंत्रीयों को रोटेशन में राजीव भवन में बैठने का भी निर्णय लिया गया। वहीं बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में बने रहने का आग्रह किया गया जिसका सभी सदस्यों ने दोनों हाथ उठाकर इसका समर्थन किया।

ये खबर भी पढ़ें – रायपुर : मुख्यमंत्री ने किया पुलिस परफॉर्मेंस सेंटर का शुभारंभ

बैठक में नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने राजनीतिक प्रस्ताव रखा और कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने के बाद राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेसजनों ने पार्टी की विचारधारा और सिद्धांतों को लेकर वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने सर्व धर्म समभाव और सामाजिक न्याय व संवैधानिक मूल्यों के प्रति प्रतिबद्धता की लड़ाई का कुशल और प्रभावी नेतृत्व किया। डॉ. प्रेमसाय सिंह नेइसका समर्थन किया।
प्रस्ताव में आगे कहा कि कांग्रेस की विचारधारा को लेकर राजनीतिक और वैचारिक लड़ाई का नेतृत्व जारी रखने के लिए प्रदेश कांग्रेस ने श्री गांधी से निवेदन किया कि वे राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में पार्टी का नेतृत्व करते हुए हम सबका मार्गदर्शन और नेतृत्व करते रहें।

WhatsApp Image 2019 06 03 at 9.24.11 AM

बैठक में कार्यकर्ताओं की समस्याओं को लेकर भी चर्चा हुई। यह तय किया गया कि सोमवार से शनिवार तक सभी मंत्री रोटेशन में राजीव भवन में बैठेंगे। बैठक में लोकसभा चुनाव में हार पर भी चर्चा हुई। यह कहा गया कि शहरी क्षेत्रों में कांग्रेस का प्रचार कमजोर था और इस वजह से नगरीय क्षेत्रों में कांग्रेस को मिले वोटों में कमी आई है। इसके लिए आने वाले दिनों में नगरीय क्षेत्रों में विशेष ध्यान देने की जरूरत पर बल दिया गया। नवंबर में नगरीय निकायों के चुनाव है। इसके लिए अभी से काम करने की जरूरत बताई गई।
बैठक में प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि लोकसभा चुनाव में आरएसएस द्वारा भ्रामक प्रचार किया गया। साथ ही साथ उन्होंने ईवीएम की उपयोगिता पर भी सवाल खड़े किए। पुनिया ने कहा कि देश में कई जगहों पर चुनाव परिणामों को लेकर संदेह जाहिर किया जा रहा है। बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी अपने विचार रखें। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गांव, गरीब और किसानों के हितों में किए गए कार्यों की जानकारी दी। बैठक में सरकार के मंत्री टीएस सिंहदेव, कवासी लखमा, मोहम्मद अकबर, प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन सहित अन्य प्रमुख नेता मौजूद थे।
 

https://www.youtube.com/watch?v=v3JODhczTXw

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button