राजनांदगांव: ग्रामीण अर्थव्यवस्था के सुदृढ़ीकरण में सार्थक बनी गोधन न्याय योजना

राजनांदगांव ,   कोरोना महामारी से संकट के समय में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की प्राथमिकता एवं राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना गोधन न्याय योजना अंतर्गत किए जा रहे सतत निरीक्षण के दौर में आज मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत तनुजा सलाम ने राजनांदगांव विकासखंड के ग्राम पंचायतों एवं गौठानों का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान गोबर से खाद बनाने की प्रक्रिया में स्वसहायता समूह द्वारा किए जा रहे प्रयासों एवं आवश्यकता अनुसार कमियों की जानकारी ली गई। जिसमें ग्राम पंचायत, मुड़पार अंतर्गत निर्मित गौठान में अतिरिक्त वर्मी कंपोस्ट पिट की आवश्यकता, गौठान के साथ स्वीकृत सामुदायिक बाड़ी का कार्य तत्काल प्रारंभ किये जाने हेतु निर्देश दिया गया।

साथ ही चारागाह के कार्य हेतु चयनित स्थल का निरीक्षण किया गया। जिसमें पानी की उपलब्धता हेतु निर्देश दिया गया। उन्होंने गौठान में मनरेगा के तहत वन विभाग द्वारा वृक्षारोपण करवाए गए कार्यों में 50 पौधे अभी भी लगाया जाना शेष होने की स्थिति में नाराजगी व्यक्त की तथा तत्काल पौधा लगाने के निर्देश दिये गये।

इसके बाद उन्होंने ग्राम पंचायत, कोटराभांठा के गौठान का निरीक्षण किया गया। गौठान में निर्माण कार्यों में कोटना एवं शौचालय निर्माण का निरीक्षण कियाए जिसे शीघ्र पूर्ण कराए जाने हेतु निर्देश दिए। साथ ही 15 दिन पूर्ण होने के पश्चात गोबर को तत्काल वर्मी कंपोस्ट टैंक में डालने हेतु निर्देश दिया गया एवं ग्राम पंचायतों में रोका-छेका कड़ाई से पालन किए जाने हेतु सचिव एवं रोजगार सहायक को निर्देश दिए।

प्रतिदिन ग्राम पंचायतों में निर्मित गौठान में पशुओं को लाए जाने हेतु निगरानी करने के निर्देश दिए। तत्पश्चात उन्होंने ग्राम पंचायत कुम्हालोरी एवं साँकरा का निरीक्षण किया। जहां गौठान में स्वसहायता समूह से मिलकर गोधन न्याय योजना अंतर्गत गोबर खरीदी की विस्तृत जानकारी, कृषि विभाग द्वारा खाद बनाए जाने हेतु प्रशिक्षण की जानकारी एवं गोबर खरीदी की सचिव के माध्यम से होने वाली ऑनलाइन एंट्री की सतत मॉनिटरिंग हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को निर्देश दिए।

जिला पंचायत राजनंदगांव अंतर्गत आज तक कुल 11,446 पशुपालकों से गोबर की खरीदी की गई है एवं 1 करोड़ 18 लाख 57 हजार 1 सौ रुपए की राशि का भुगतान किया गया है, जो कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के योजना प्रारंभ करने के ग्रामीण अर्थव्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के उद्देश्य को सार्थक करता नजर आ रहा है। निरीक्षण के दौरान जनपद पंचायत राजनांदगांव के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गोपाल सिंह कंवर, जिला पंचायत के सहायक परियोजना अधिकारी मनरेगा फैज मेमन, कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा सुचंद्रकला कुशवाहा उपस्थित थे।
०००

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *