छत्तीसगढ़

बीरगांव जैसे श्रमिक बाहुल्य क्षेत्र में शिक्षा के प्रसार में शहीद नंद कुमार पटेल शासकीय महाविद्यालय की महत्वपूर्ण भूमिका होगी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां शहीद नंद कुमार पटेल शासकीय महाविद्यालय के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा की 4 करोड़ 27 लाख रुपए की लागत से निर्मित इस नवीन भवन से क्षेत्र में शिक्षा के प्रसार में महाविद्यालय की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।
उन्होंने कहा कि आज नवरात्रि का दूसरा दिन है। आज से कॉलेज के नए भवन का शुभारंभ हो रहा है। उन्होंने सभी विद्यार्थियों , प्राध्यापकों, अभिभावकों और बिरगांव क्षेत्रवासियों को अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि इस कॉलेज की स्थापना वर्ष 2017 में हुई थी।लेकिन स्वयं के भवन के अभाव में यह कॉलेज अब तक रावांभाठा के प्राइमरी स्कूल के भवन में संचालित हो रहा था। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों,मजदूरों,बेरोजगारों सहित सभी वर्गो के हित के लिए प्रतिबद्ध है।  उन्होंने कहा की शहीद नंदकुमार पटेल के नाम को जीवित रखने के लिए राज्य सरकार ने रायगढ़ में विश्वविद्यालय,यहाँ बीरगांव में  महाविद्यालय और नया रायपुर में चौक का नामकरण किया है।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने  इस अवसर पर  बीरगांव  महाविद्यालय परिसर का समतलीकरण,स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल के लिए भवन तथा महाविद्यालय में  शहीद पटेल की मूर्ति स्थापना की घोषणा  किया।उन्होंने कहा की  शिक्षा की गुणवत्त्ता में समझौता नही किया जाएगा।बच्चों को इस तरह शिक्षित करें कि देश में यहां की शिक्षा के बारे में चर्चा हो। मुख्यमंत्री ने कॉलेज के सभी प्राध्यापकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि असुविधाओं के बीच भी बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने में उन्होंने लगातार मेहनत की। इसी का परिणाम है कि इस कॉलेज में विद्यार्थियों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हुई और आज यह संख्या लगभग 1000 विद्यार्थियों तक पहुंच गई है।इस महाविद्यालय में छात्रों की तुलना में छात्राओं की संख्या ज्यादा है।यह बड़े खुशी की बात है कि लड़कियां और उनके अभिभावक उच्च शिक्षा को लेकर  जागरूक हैं।
उन्होंने कहा कि इस भवन में स्वामी आत्मानंद स्कूल का भी संचालन हो रहा है।इस तरह इस भवन का दोहरा लाभ क्षेत्रवासियों को मिल रहा है। उन्होंने उद्योगों के प्रति भी आभार व्यक्त किया और कहा कि सीएसआर मद से इस महाविद्यालय में विभिन्न सुविधाओं के निर्माण में सहयोग मिला है। महाविद्यालय में अहाता निर्माण के लिए डी एम एफ  से 13 लाख 56 हजार की स्वीकृति भी दी गई है। स्वामी आत्मानंद विद्यालय में फर्नीचर,लैब और लाइब्रेरी के लिए 24लाख 87 हजार  रुपए भी डी एम एफ मद से जिला शिक्षा अधिकारी को उपलब्ध कराए गए हैं।उन्होंने कहा की आने वाले समय में इस कॉलेज और स्कूल परिसर में और भी सुविधाओं का विकास बहुत तेजी से किया जाएगा।इस अवसर पर महाविद्यालय की पत्रिका प्रेरणा का विमोचन किया गया तथा राजीव युवा मितान क्लब  को प्रथम किस्त ?25 हजार रुपए का सांकेतिक चेक भी प्रदान किया गया।
उच्च शिक्षा मंत्री  उमेश पटेल ने कहा कि राज्य में भवन विहिन महाविद्यालय के लिए प्राथमिकता से भवन बनाया जा रहा है।शिक्षा के क्षेत्र में नए आयाम गढऩा है। सत्यनारायण शर्मा ने कहा कि बच्चों के पढऩे के लिए बड़े सुंदर भवन का आज लोकार्पण हुआ है।क्षेत्र के लोगों को पानी,बिजली और अन्य सुविधाएं आज सहज उपलब्ध हो रहा है।  इस अवसर पर  राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, महापौर नंद लाल देवांगन,जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष पंकज शर्मा, कुलपति केशरी लाल वर्मा,कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र  भुरे,,पार्षद गण,जनप्रतिनिधिगण, अभिभावक ,छात्र-छात्राएं एवं बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button