सिडनी : सिडनी वनडे : ऑस्ट्रेलिया ने भारत को दी 289 रनों की चुनौती

सिडनी : खराब शुरुआत के बाद मध्यक्रम के बल्लेबाजों के संयुक्त प्रयास के दम पर आस्ट्रेलिया ने शनिवार को यहां सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पार जारी पहले वनडे मैच में भारत के खिलाफ निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 288 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। भारत के सामने 289 रनों की चुनौती रखी है। आस्ट्रेलिया को इस स्कोर तक पहुंचाने में पीटर हैंड्सकॉम्ब (73), शॉन मार्श (59) और उस्मान ख्वाजा (59) का अहम योगदान रहा। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मेजबान टीम को तीसरे ही ओवर में ही पहला झटका लगा। भुवनेश्वर कुमार ने आठ के कुल स्कोर पर आस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच (6) को बेहतरीन इनस्विंगर पर बोल्ड कर दिया। यह भुवनेश्वर का वनडे में 100वां विकेट था। दूसरे सलामी बल्लेबाज एलेक्स कैरी (24) ने ख्वाजा के साथ मिलकर टीम के स्कोर बोर्ड को आगे बढ़ाया। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 33 रन जोड़े।

ये खबर भी पढ़ें – सिडनी : एसईएन रेडियो के बयान से मैक्सवेल नाराज

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने यहां गेंदबाजी में बदलाव किया और चाइनामैन कुलदीप यादव को लेकर आए। कुलदीप ने 41 के कुल स्कोर पर एलेक्स को स्लिप पर खड़े रोहित शर्मा के हाथों कैच करा भारत को दूसरी सफलता दिलाई। ख्वाजा को यहां से मार्श का साथ मिला। दोनों ने धीरे-धीरे बिना किसी जोखिम उठाए पारी को आगे बढ़ाया। इस बीच ख्वाजा ने 26वें ओवर की दूसरी गेंद पर एक रन लेकर अपना अर्धशतक पूरा किया। यह उनका वनडे में पांचवां अर्धशतक है। कुछ देर बाद ख्वाजा 133 के कुल स्कोर पर रवींद्र जडेजा की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए। उन्होंने मार्श के साथ तीसरे विकेट के लिए 92 रनों की साझेदारी की। ख्वाजा ने 81 गेंदों की पारी खेली जिसमें छह चौके शामिल रहे। मार्श ने अपना खेल जारी रखा और हैंड्सकॉम्ब के साथ मिलकर टीम का स्कोर 186 तक पहुंचाया। इस बीच मार्श ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया था।

ये खबर भी पढ़ें – सिडनी : आस्ट्रेलिया से अपने फुटबाल करियर की शुरुआत कर सकते है उसेन बोल्ट

मार्श कुलदीप की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में मोहम्मद शमी के हाथों लपके गए। उन्होंने अपनी पारी में 70 गेंदों का सामना करते हुए चार चौके मारे। लगा था कि हैंड्सकॉम्ब अकेले पड़ जाएंगे लेकिन मार्कस स्टोइनिस ने अंत में उनका अच्छा साथ दिया। हैंड्सकॉम्ब थोड़ा तेज खेल रहे थे तो वहीं स्टोइनिस स्ट्राइक रोटेट करने का काम कर रहे थे।
अंत में तेजी से रन बनाने के कारण की हैंड्सकॉम्ब 48वें ओवर की दूसरी गेंद पर 254 के कुल स्कोर पर भुवनेश्वर का दूसरा शिकार बने। उन्होंने अपनी पारी में 61 गेंदें खेली और छह चौके के अलावा दो छक्के लगाए। स्टोइनिस 43 गेंदों पर दो चौके और इतने ही छक्के की मदद से 47 रन बनाकर नाबाद लौटे। उनके साथ ग्लैन मैक्सवेल पांच गेंदों पर एक चौके की मदद से 11 रन बनाकर नाबाद रहे। भारत के लिए भुवनेश्वर और कुलदीप ने दो-दो विकेट लिए। जडेजा को एक विकेट मिला।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *