पीएम मोदी की आगरा रैली में वकीलों ने लगाए नारे

हाईकोर्ट बेंच की मांग को लेकर बुधवार को वकीलों ने एमजी रोड पर प्रदर्शन किया। रैली स्थल की ओर कूच कर दिया। पुलिस ने रास्ते में उन्हें रोक दिया। एसएन इमरजेंसी से जुलूस आगे ले जाने को लेकर पुलिस से वकीलों की झड़प हुई। वकील गिरफ्तारी पर अड़ गए। अधिकारियों के तमाम प्रयासों के बावजूद चार वकील पीएम मोदी की रैली स्थल पर पहुंच गए। यहां वकीलों ने वी वांट हाईकोर्ट के नारे लगाते हुए विरोध स्वरूप काला कोट हवा में लहराया।

कई साल बाद दिखा जोश

खंडपीठ स्थापना का आंदोलन करीब 62 वर्ष से चल रहा है। वकीलों ने दिल्ली से लखनऊ तक कई बार प्रदर्शन किया है। कई सालों से ठंडे चल रहे आंदोलन में बुधवार को गरमी दिखी। युवा से लेकर वरिष्ठ अधिवक्ता तक पैदल मार्च में दिखे। हालांकि जुलूस को अनुशासित रखने के लिए कई बार वरिष्ठ अधिवक्ताओं को आगे आना पड़ा।

दीवानी में बेंच स्थापना को दीं आहुतियां

दीवानी परिसर स्थित नटराज विंग के अधिवक्ताओं ने बुधवार को हवन किया। शास्त्री ने विधि विधान से पूजा अर्चना कराई। सभी ने वेद मंत्रों के साथ हवन में आहुतियां दीं और केंद्र सरकार से बेंच स्थापना की मांग की। हवन में अधिवक्ता दिलीप दुबे, राजेश कुमार गुप्ता, गगन शर्मा, जयदीप, विनोद राजूपत, विनोद शर्मा, प्रेमपाल सिंह आदि थे।

फिरोजाबाद के वकीलों को हाईवे पर रोका

एत्मादपुर। पीएम की रैली में आ रहे फिरोजाबाद के वकीलों को कुबेरपुर चौराहा पर पुलिस ने रोक लिया। काफी देर तक हंगामा भी चला। बाद में वकीलों ने एसडीएम अंबरीश कुमार बिंद को ज्ञापन सौपा। फिरोजाबाद के बार एसोसिएसन के अध्यक्ष जाहर सिंह व महासचिव भरत यादव के नेतृत्व में तमाम अधिवक्ता आगरा में खंडपीठ स्थापना की मांग को लेकर मोदी की रैली में जा रहे थे। सीओ अतुल कुमार सोनकर ने उन्हें कुबेरपुर चौराहे पर बेरिकेटिंग लगाकर रोक लिया। जिसके बाद अधिवक्ता वापस फिरोजाबाद चले गये।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *