हालमार्क लाइसेंस के लिए अभियान तेज होगा

भोपाल , भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा हालमार्क को लेकर मध्य प्रदेश में अभियान तेज किया जाएगा। मप्र में सराफा कारोबारियों की संख्या 45 हजार से ज्यादा है, लेकिन अभी तक दस फीसद व्यवसायी भी हालमार्क के लाइसेंसी नहीं हैं। हालांकि देशभर के कारोबारियों को दूर करने का अनुरोध किया है।
भारतीय मानक ब्यूरो ने ज्वेलरी में हालमार्क की अनिवाय्रता के लिए 15 जनवरी 2021 की तारीख तय कर दी थी, जिसे छह महीने के लिए आगे बढ़ाया गया है पर कारोबारियों की स्टाक क्लीयरेंस के लिए मिला तीन महीने का ही समय बचा है, कारोबारी चाह रहे हैं कि इसे 2025 तक बढ़ाया जाए।
सराफा कारोबारियों का तर्क है कि इतने कम समय में स्टाक खत्म करना संभव नहीं है। सरकार के नोटिफिकेशन के बाद इस मुद्दे पर कारोबारी कह रहे हैं कि सरकार इसे जल्दबाजी में लागू करने के बजाय चरणबद्ध और व्यवहारिक तरीके से लागू करें तो बेहतर नतीजे सामने आएंगे। प्रदेश में अभी हालमार्क का लाइसेंस लेने के लिए एक ही कार्यालय भोपाल में है। कार्यालयों की संख्या भी बढ़ाने की मांग की गई है। दो लाख रुपये जुर्माना और एक साल की जेल का प्रावधान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *