मॉस्को : अपनी टीम को सपोर्ट करने 5000 किलोमीटर साइकिल चलाकर रूस पहुंचा फैन

मॉस्को : बस कुछ ही घंटों बाद से फीफा वल्र्ड कप के प्रशंसकों का जुनून अपने चरम पर होगा। दुनियाभर से लोग अपनी फेवरेट टीम को सपोर्ट करने रूस पहुंचे हुए हैं। लेकिन इन प्रशंसकों में से एक ऐसा भी है जिसने वल्र्ड कप के जुनून की सीमाएं पार कर दी हैं। यह शख्स अपने पसंदीदा टीम को सपोर्ट करने रूस तो पहुंचा लेकिन साइकिल पर 5000 किलोमीटर से ज्यादा लंबा सफर तय करके। फीफा विश्व कप में आज शाम 8.30 बजे ओपनिंगम मैच में मेजबान टीम रूस की भिड़ंत सऊदी अरब से हो रही है। ऐसे में फहद अल-याहया हर हाल में इस मैच में उपस्थित रहकर अपनी टीम का समर्थन करने के लिए 5145 किलोमीटर साइलिक चलाकर मॉस्को पहुंचे। फदद ने 75 दिनों की यात्रा के बाद रियाद से मॉस्को में प्रवेश किया।

फीफा विश्व कप

फाहद हाथों में अपने देश का राष्ट्रध्वज लेकर साइकल पर सवार होकर चार देशों से होते हुए रूस मॉस्को में पहुंचे। वेबसाइट ‘फीफा डॉट कॉम’ को दिए बयान में सऊदी अरब के इस प्रशंसक ने कहा, रियाद क्षेत्र के प्रिंस फेसल बेन बदार अब्दुल्लाजीज ने मुझे राष्ट्रध्वज दिया और मैं इसे 5,145 किलोमीटर का रास्ता तय करते मॉस्को में सऊदी अरब के दूतावास पहुंचा हूं। मैंने इस ध्वज को राजदूत राएद करीमिल को सौंपा। सऊदी अरब के 28 वषीर्य साइकिलिस्ट फहद ने कहा, मैं अपनी टीम का समर्थन करता चाहता था और इसीलिए, मैंने यह यात्रा की।

जुनून के लिए झेलने पड़े कई दर्द

फहद इसके अलावा, सेंट पीटर्सबर्ग में सऊदी अरब की टीम बेस पहुंचे, जहां सऊदी अरब फुटबाल महासंघ के अध्यक्ष अदेल एजात ने उनका स्वागत किया। इस सफर के दौरान फहद ने कई तरह की दिक्कतों का सामना किया। उन्हें पीठ में दर्द की शिकायत हुई और एक वक्त ऐसा भी आया, जब उनकी भिड़ंत लॉरी से हो गई लेकिन उनका सफर नहीं रुका और अब वह अपनी टीम की हौसलअफजाई के लिए रूस में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *