तीसरी बार हुई श्रम विभाग में आईबीसी24 के एचआर की पेशी, अब मामला लेबर कोर्ट में

रायपुर: टर्मिनेशन के मामले में एक बार फिर आईबीसी24 के एचआर की पेशी श्रम विभाग में हुई, इस पेशी के लिए कंपनी की ओर से एचआर मैनेजर जतिन दुबे पेश हुए और उन्होने कंपनी का पक्ष रखा, ये श्रम विभाग में तीसरी पेशी थी जिसमें दोनों ही पक्ष पहले की भांति अपने-अपने बयानों पर काबिज रहे, जिसके बाद श्रम विभाग अधिकारी ने एक बार फिर दोनों के बयान दर्ज किए ।

नीचे क्लिक कर पढ़ें इसी मामले की पहली पेशी की खबर

पीड़ित कर्मी ने फिर लगाया दबाव बनाने का आरोप, दस्तावेज भी सौंपे

पेशी के दौरान पीड़ितकर्मी ने एक बार फिर केस को लेकर उसपर लगातार दवाब बनाने का आरोप लगाया, पीड़ित के मुताबकि इस मामले की जानकारी उसने व्हाटसअप के जरिये पूरे आईबीसी24 के प्रबंधन को दी है, कि उसे जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं, साथ ही पीड़ित ने इस मामले की शिकायत छत्तीसगढ़ सरकार से भी है, पीड़ित ने शिकायतों के दस्तावेज भी श्रम अधिकारी को सौंपे हैं और बताया कि वह अपनी लड़ाई कानूनी रूप से लड़ना चाहता है, लेकिन कुछ रसूखदार उसे लगातार झूठे केस में फंसाने और जान से मारने धमकियां दी जा रही हैं  ।

नीचे क्लिक कर पढ़ें इसी मामले की दूसरी पेशी की खबर

कंपनी के एचआर ने भी दिये क्लियरेंस के दस्तावेज

इधर कंपनी के एचआर ने भी अपनी तरफ से दस्तावेज दिए, जिसमें उन्होने बताया कि पीड़ित कर्मी को एक महीने की एडवांस सैलेरी के साथ छुट्टियों का पेैसा दे दिया गया है, हालांकि वो पीड़ित को मिल रहीं धमकियां धमकियों के आरोप पर खामोश रहे ।

अब लेबर कोर्ट में चलेगा ये मामला

तीन पेशियों के बाद श्रम अधिकारी ने बताया कि अब ये मामला लेबर कोर्ट में चलेगा और वहीं इसका फैसला होगा, उन्होने बताया कि 15 दिन के भीतर पीड़ित के घर लेटर पहुंचेगा जिसके बाद ये मामला आगे बढ़ेगा ।

 

अजीत जोगी से जुड़़ी इस खबर को देखना न भूलें

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *