Rubika Liyaquat पर टूटा कोरोना का कहर, मां की कोरोना से हुई मौत

नईदिल्ली, मीडिया जगत में भी कोरोना ने कोहरम मचाकर रखा है, कई लोग अपनी जान गंवा चुके है, हालांकि अब कोरोना वायरस अपनी ढलान की ओर है, लेकिन जाते-जाते भी कई लोगों को निगलने के लिए बेताब दिखाई दे रहा है । वैसे आपको बता दें कि जानकार बताते हैं, कि कोरोना पॉजिटिव होने के बाद पहले दस दिन ज्यादा महत्तवपूर्ण हैं, लेकिन इस बार ये दैत्य वायरस न जाने कहां से आया है और जब तक जानकार इसके बारे में जानते हैं, वो अपना दूसरा ही रंग दिखाने लगता है ।

ये खबर भी पढ़ें – बुरी खबर: जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी को कोरोना होने के बाद….

ऐसा ही हुआ देश की मशहूर एंकर रूबिका लियाकत (Rubika Liyaquat) के साथ, जिनकी मां कोरोना की चपेट में 11 मई से पहले आ गई थीं । इस बात की जानकारी खुद रूबिका ने अपने सोशल मीडिया अकांउट पर शेयर की थी, तब उन्होने लिखा था

“माँ की असल जंग शुरू हो गई है… कह रहे हैं जितना लोग दुआ करेंगे वो उतना मज़बूती से लड़ेंगी”

और जैसा कि रूबिका ने लिखा था उनकी मां ने वैसा ही किया, वो लड़ती रहीं, करीब बीस दिनों तक रूबिका की मां और कोरोना के बीच जंग चलती रही । कभी कोरोना हावी तो कभी मां उसे हराती हुई दिखाई धीं । लेकिन आखिरकार रूबिका की मां हार गईं और कोरोना वायरस ने एक और जख्म मीडिया इंड्रस्ट्री को दे दिया ।

और इस बात की जानकारी खुद रूबिका ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर की उन्होने ट्वीट में लिखा-

“माँ अब पास नहीं रहेगी, माँ अब मुझमें रहेगी,
ख़ूब लड़ी मर्दानी, वो तो फ़ातमा रानी थी”

रूबिका लियाकत के पिता ने भी पत्नी को खो देने की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की जिसमें उन्होने अपनी पत्नी को याद करते हुए लिखा –
“मेरी लाईफ नहीं रही…इतनी मुहब्बत कमाई फ़ातमा ने कि हर धर्म को मानने वालों ने शिद्दत से दुआऐं की। आप सभी का तहे-दिल से शुक्रिया।”

आपको बता दें कि रूबिका लियाकत (Rubika Liyaquat) राष्ट्रवादी न्यूज एंकर मानी जाती हैं, हालांकि वे मुस्लिम धऱ्म से ताल्लुक रखती हैं, लेकिन सभी तरह के मुद्दों पर वे अपनी बात को दमदार तरीके से रखती हैं, जिसकी वजह से कई बार उन्हें मुस्लिम धर्मगुरुओं के गुस्से का भी शिकार होना पड़ता है । हालांकि मानसिक रूप से रूबिका लियाकत (Rubika Liyaquat) खुद इतनी मजबूत हैं, कि उन्हें कोई मुश्किल परास्त नहीं कर सकती, लेकिन हम ईश्वर से कामना करते हैं कि दुख की इस घड़ी में रूबिका को और शक्ति प्रदान करे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button